Manifesting Miracle 2021

Manifesting Miracle 2021
Manifesting Miracle 2021

Manifesting Miracle –
Miracle, so what is miracle according to you?
Doing something differently in an unique way that will leave everyone awestruck like ohh my God how could she do this!!!??
well miracle happens if we have belief on us to bring about then. Human mind is the vast thing that majorly controls and guides our every single activity. We must be knowing about thinking out of the box. Well what does that mean exactly? Thinking out of the box is just a mere deviation the way the majority think , not following the herd rather than following that which his heart follows. Our mind is the energy that always is in the state of wondering. Like if we exactly remember everything since childhood does it something there like no single wish of us is fulfilled yet. Yes we have gathered a bit a success or failure in mixed way in our life till date it is not that we have only got despair and failure. Then how come we are not satisfied and content !!
The reason is our mind is not programmed like that it’s tendency is to always wonder and to be in past or future.
Once an achievement is done we are subconsciously shifted towards another and another. And this is the way of life. This is how civilization could be established.
So balancing our energy to channelize it to give our dream a proper shape it is required to stay narrow and deep. Universe is like if we smile, it will. It reflects what we are. If we throw tantrums, mental garbages we certainly see all those in our life.
And so is the law of attraction holds good in that case.
What we call miracle is the mere pile of belief, focus, regorous effort and consistency to reach at the finish line.
The world isn’t a fancy place. It is not all sunshine and rainbow. It’s a really cruel and a mean place. If you want to make your place then work hard for it. No matter how hard you have got hit but rise above all and keep moving forward. Giving excuses about your failure is cowardice and that is not you. Get better everyday and triumph the journey of life with your indomitable spirit.
Rome was never built in a day. Miracle requires strong determination and then only you will have a dent on this universe. As the universe is always fall in love with a stubborn heart!!!
~Adios

प्रकट चमत्कार –
चमत्कार, तो आपके अनुसार चमत्कार क्या है?
अनोखे तरीके से कुछ अलग करना जो हर किसी को हैरान कर देगा जैसे ओह माय गॉड वह ऐसा कैसे कर सकता है ??
अच्छा चमत्कार होता है अगर हम पर विश्वास करना है तो हमें लाना होगा। मानव मन वह विशाल चीज है जो हमारी हर एक गतिविधि को प्रमुखता से नियंत्रित और निर्देशित करती है। हमें बॉक्स से बाहर के बारे में सोचना चाहिए। खैर इसका क्या मतलब है? बॉक्स से बाहर निकलना सिर्फ एक विचलन है जिस तरह से बहुमत सोचता है, न कि झुंड का अनुसरण करने के बजाय उसका अनुसरण करता है जो उसका दिल करता है। हमारा मन ऊर्जा है जो हमेशा आश्चर्य की स्थिति में है। जैसे अगर हम बचपन से ही सबकुछ याद रखते हैं, तो यह कुछ ऐसा है जैसे हमारी कोई भी इच्छा पूरी नहीं हुई है। हाँ हमने अपने जीवन में मिश्रित तरीके से थोड़ी सफलता या असफलता पाई है, ऐसा नहीं है कि हमें केवल निराशा और असफलता ही मिली है। फिर कैसे हम संतुष्ट और संतुष्ट नहीं हैं !!
इसका कारण यह है कि हमारे दिमाग को इस तरह से प्रोग्राम नहीं किया जाता है कि यह प्रवृत्ति हमेशा आश्चर्यचकित करने वाली है और अतीत या भविष्य में होने वाली है।
एक बार एक उपलब्धि हो जाने के बाद हम अवचेतन रूप से दूसरे और दूसरे की ओर स्थानांतरित हो जाते हैं। और यह जीवन का तरीका है। इसी से सभ्यता की स्थापना हो सकी।
इसलिए हमारी ऊर्जा को संतुलित करते हुए इसे हमारे सपने को एक उचित आकार देने के लिए इसे संकीर्ण और गहरा रहने की आवश्यकता है। यूनिवर्स की तरह है अगर हम मुस्कुराते हैं, तो यह होगा। यह दर्शाता है कि हम क्या हैं। अगर हम नखरे फेंकते हैं, तो मानसिक रूप से हम अपने जीवन में उन सभी को देखते हैं।
और इसलिए आकर्षण का नियम उस मामले में अच्छा है।
जिसे हम चमत्कार कहते हैं, वह विश्वास, ध्यान, प्रतिगामी प्रयास और अंतिम पंक्ति तक पहुंचने की निरंतरता का ढेर है।
दुनिया एक फैंसी जगह नहीं है। यह सब धूप और इंद्रधनुष नहीं है। यह वास्तव में क्रूर और मतलबी जगह है। अगर आप अपनी जगह बनाना चाहते हैं तो इसके लिए कड़ी मेहनत करें। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितना भी मुश्किल हो लेकिन सब से ऊपर उठकर आगे बढ़ते रहें। अपनी विफलता के बारे में बहाने देना कायरता है और यह आप नहीं है। हर रोज बेहतर हो और अपनी अदम्य भावना के साथ जीवन की यात्रा जीत।
रोम का निर्माण कभी एक दिन में नहीं हुआ था। चमत्कार के लिए दृढ़ निश्चय की आवश्यकता होती है और उसके बाद ही आपको इस ब्रह्मांड पर सेंध लगेगी। जैसा कि ब्रह्मांड हमेशा एक जिद्दी दिल के साथ प्यार में है !!!
~ आदियो
prakat chamatkaar –
chamatkaar, to aapake anusaar chamatkaar kya hai?
anokhe tareeke se kuchh alag karana jo har kisee ko hairaan kar dega jaise oh maay god vah aisa kaise kar sakata hai ??
achchha chamatkaar hota hai agar ham par vishvaas karana hai to hamen laana hoga. maanav man vah vishaal cheej hai jo hamaaree har ek gatividhi ko pramukhata se niyantrit aur nirdeshit karatee hai. hamen boks se baahar ke baare mein sochana chaahie. khair isaka kya matalab hai? boks se baahar nikalana sirph ek vichalan hai jis tarah se bahumat sochata hai, na ki jhund ka anusaran karane ke bajaay usaka anusaran karata hai jo usaka dil karata hai. hamaara man oorja hai jo hamesha aashchary kee sthiti mein hai. jaise agar ham bachapan se hee sabakuchh yaad rakhate hain, to yah kuchh aisa hai jaise hamaaree koee bhee ichchha pooree nahin huee hai. haan hamane apane jeevan mein mishrit tareeke se thodee saphalata ya asaphalata paee hai, aisa nahin hai ki hamen keval niraasha aur asaphalata hee milee hai. phir kaise ham santusht aur santusht nahin hain !!
isaka kaaran yah hai ki hamaare dimaag ko is tarah se prograam nahin kiya jaata hai ki yah pravrtti hamesha aashcharyachakit karane vaalee hai aur ateet ya bhavishy mein hone vaalee hai.
ek baar ek upalabdhi ho jaane ke baad ham avachetan roop se doosare aur doosare kee or sthaanaantarit ho jaate hain. aur yah jeevan ka tareeka hai. isee se sabhyata kee sthaapana ho sakee.
isalie hamaaree oorja ko santulit karate hue ise hamaare sapane ko ek uchit aakaar dene ke lie ise sankeern aur gahara rahane kee aavashyakata hai. yoonivars kee tarah hai agar ham muskuraate hain, to yah hoga. yah darshaata hai ki ham kya hain. agar ham nakhare phenkate hain, to maanasik roop se ham apane jeevan mein un sabhee ko dekhate hain.
aur isalie aakarshan ka niyam us maamale mein achchha hai.
jise ham chamatkaar kahate hain, vah vishvaas, dhyaan, pratigaamee prayaas aur antim pankti tak pahunchane kee nirantarata ka dher hai.
duniya ek phainsee jagah nahin hai. yah sab dhoop aur indradhanush nahin hai. yah vaastav mein kroor aur matalabee jagah hai. agar aap apanee jagah banaana chaahate hain to isake lie kadee mehanat karen. koee phark nahin padata ki aap kitana bhee mushkil ho lekin sab se oopar uthakar aage badhate rahen. apanee viphalata ke baare mein bahaane dena kaayarata hai aur yah aap nahin hai. har roj behatar ho aur apanee adamy bhaavana ke saath jeevan kee yaatra jeet.
rom ka nirmaan kabhee ek din mein nahin hua tha. chamatkaar ke lie drdh nishchay kee aavashyakata hotee hai aur usake baad hee aapako is brahmaand par sendh lagegee. jaisa ki brahmaand hamesha ek jiddee dil ke saath pyaar mein hai !!!
~ aadiyo

Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle, Manifesting Miracle

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top